Wednesday, February 28
Shadow

बाबरी फैसले से पहले बोले वेदांती, हां मैंने ही ढांचा तुड़वाया, फांसी भी होती है तो तैयार हूं

बाबरी विध्वंस पर आज लखनऊ की एक स्पेशल अदालत बड़ा फैसला सुनाने जा रही है। इस केस में बीजेपी के दिग्गज नेता लालकृष्ण आडवाणी समेत कुल 32 आरोपी है। इन्ही आरोपियों में शामिल रामजन्मभूमि न्यास के सदस्य मविलास वेदांती ने फैसले से पहले कहा कि उन्होंने बाबरी ढांचे को तुड़वाया है और इसके लिए अगर उन्हें फांसी भी होती है तो तैयार हूं।

रामलला के लिए फांसी को भी तैयार- वेदांती
वेदांती ने फैसले से पहले कहा, ‘हमको विश्वास है कि मंदिर था, मंदिर है और मंदिर रहेगा। हमने उस ढांचा को तुड़वाया, उस खंडहर को तुड़वाया, इसके लिए हमको गर्व है। ढांचा तुड़वाने के आरोप में, खंडहर तुड़वाने के आरोप में यदि फांसी होती है यदि आजीवन कारावास होता है तो हम रामलला के लिए जेल जाने और फांसी चढ़ने को भी तैयार हैं लेकिन रामलला को छोड़ने को तैयार नहीं हैं।’

उन दो FIR की कहानी, जिसने आडवाणी, जोशी और उमा को घेरे में ला दिया

बाबर तो कभी अयोध्या आया ही नहीं- वेदांती

वेदांती ने कहा, ‘अयोध्या में राम का जन्म हुआ, बाबर कभी अयोध्या आया ही नहीं फिर बाबरी मस्जिद कैसे। यह प्रश्न ही नहीं उपस्थित होता है। इसलिए हमने 2005 में एक महीने की गवाही में सिद्ध किया था कि जहां रामलला विराजमान हैं वही राम की जन्मभूमि है।’

कोर्ट में नहीं मौजूद रहेंगे आडवाणी, जोशी, उमा और दो अन्य आरोपी, जानें क्या है कारण

कुछ नहीं होगा सारा सिस्टम तुम्हारा ग़ुलाम है Nadeem Rizvi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *