Friday, February 23
Shadow

बक्‍सर के थाने में संदिग्‍ध पर‍िस्थितियों में बुजुर्ग की मौत, हंगामे के बाद थानेदार को एसपी ने किया सस्‍पेंड

डुमरांव (बक्सर), कोरान सराय थाना के कंप्यूटर कक्ष में मारपीट के आरोपित 75 वर्षीय यमुना सिंह ने  बुधवार की रात कथित तौर पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। इस घटना की जानकारी मिलते ही मृतक के गांव कोपवां में खलबली मच गई। गुरुवार सुबह आक्रोशित लोगों ने राष्ट्रीय राजमार्ग 120 पर कोपवां बस स्टैंड के समीप मुख्य सड़क जाम कर दिया। मृतक के स्‍वजनों व ग्रामीणों का आरोप है कि यमुना सिंह को पुलिस ने टार्चर किया। मारपीट की। पिटाई से मौत होने के बाद फांसी लगाकर आत्महत्या का रूप दिया गया। स्‍वजनों का यह भी आरोप है कि कोरान सराय पुलिस ने मौत के बाद शव को जिला मुख्यालय के अस्पताल में ले जाकर इलाज कराने का हाई वोल्टेज ड्रामा किया है।

घटनास्‍थल पर पहुंचे एसपी ने तत्‍काल प्रभाव से थानेदार को सस्‍पेंड कर दिया है। इसके बाद लोगों ने जाम समाप्‍त किया। इस दौरान करीब तीन घंटे तक आवागमन बाधित रहा। इससे पूर्व बुजुर्ग की मौत के बाद ग्रामीणों के द्वारा बवाल करने की आशंका को लेकर कोरानसराय थाने में पूरे जिले के सभी थानों के पुलिस प्रशासन बल के अलावा दंगा निरोधक दस्ता को तैनात कर दिया गया था।  

15 अक्‍टूबर को हुआ था विवाद 

दरअसल कोरानसराय थाना क्षेत्र के कोपवां गांव में 15 अक्टूबर को दलित बस्ती के बिट्टू पासवान के बच्‍चे का विवाद लालधारी सिंह व यमुना सिंह के घर के बच्चों के बीच हुआ था। बच्‍चों के बीच स्कूल से शुरू विवाद के बाद दो गुटों के बीच हिंसक झड़प हो गई। उसी दिन शाम होते-होते यह विवाद गुटीय तनाव में बदल गया।  दोनों तरफ से जमकर लाठी-डंडे व ईंट पत्थर चले। इस विवाद में दोनों पक्षों के करीब डेढ़ दर्जन लोग जख्मी हो गए। जिनका इलाज डुमरांव अनुमंडलीय अस्पताल में हुआ। घटना के बाद दोनों ओर से कोरान सराय थाना कांड संख्या 123/22 के तहत नामजद प्राथमिकी कराई गई, जिसमें दूसरे पक्ष ने 75 वर्षीय यमुना सिंह को भी नामजद आरोपी बनाया गया। इसी मामले में बुधवार की शाम थानाध्यक्ष जुनैद आलम ने यमुना सिंह को गिरफ्तार कर लिया। उन्‍हें थाने के कंप्‍यूटर कक्ष में रखा गया जहां धोती से उन्‍होंने फंदा लगाकर आत्‍महत्‍या कर ली। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस से लेकर स्‍वजन तक हक्‍के-बक्‍के रह गए। 

स्‍वजनों ने लगाया थाने में पीट पीटकर हत्या का आरोप

घटना की जानकारी मिलते ही गुरुवार की सुबह राष्ट्रीय राजमार्ग 120 पर कोपवां बस स्टैंड के समीप सड़क जाम कर रहे हैं मृतक के स्वजनों और ग्रामीणों ने कुरान सराय पुलिस पर एकतरफा कार्रवाई करने का आरोप लगाते हुए वृद्ध को थाना में ले जाकर टॉर्चर करने और पीट-पीटकर हत्या करने का गंभीर आरोप लगाया है। मृतक के पुत्र पिंटू सिंह, मनीष सिंह और मुकेश सिंह ने कहा कि इस मामले में दूसरे पक्ष के किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई और 75 वर्ष की उम्र में एक वृद्ध पर मारपीट करने का आरोप लगाते हुए गिरफ्तार किया गया यह पुरानी सराय पुलिस की करतूत है। आक्रोशित ग्रामीणों ने थानाध्यक्ष जुनैद आलम सहित दोषी पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की मांग कर रहे थे। एसपी के आश्‍वासन के बाद लोग शांत हुए। 

पुलिस छावनी में तब्दील हुआ कोरान सराय थाना 

बुजुर्ग के आत्महत्या करने के बाद ग्रामीणों में बढ़ते आक्रोश देख कर पूरे कोरान सराय थाना को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया। यहां देखते ही देखते जिले भर के सभी थाने के थानेदार, काफी संख्या में पुलिसकर्मी और आरक्षी केंद्र से दंगा निरोधक दस्ता को लगाया गया था। इस संबंध में एसपी नीरज कुमार सिंह ने बताया कि थाने में आरोपित के फांसी लगाकर आत्‍महत्‍या करने की सूचना मिली है। पीट-पीटकर मारने की बात गलत है। पूरे मामले की जांच कराई जाएगी।  फिलहाल थानेदार को निलंबित कर दिया गया है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *