Friday, February 23
Shadow

बिग ब्रेकिंग:- सीतामढ़ी जिला के परिहार विधानसभा से मुखिया रीतू जायसवाल बनी राजद उम्मीदवार

इस वक्त की एक बड़ी खबर आ रही है सीतामढ़ी जिले से जहां सीतामढ़ी जिला के परिहार विधानसभा क्षेत्र से राजद ने सिंगवाहिनी पंचायत की मुखिया  रीतू जायसवाल को अपना उम्मीदवार बनाया है। ।

रितु जैसवाल ने कहा जे में एक छोटे से पद मुखिया पर आसीन हूँ पर आप सब ने जात-पात, धर्म, पार्टी सब से ऊपर उठ कर हमेशा साथ दिया। ये सम्मान सिर्फ और सिर्फ मेरे ईमानदार सार्थक प्रयासों को ले कर आपने दिया। और राष्ट्रीय जनता दल के शीर्ष नेतृत्व ने भी हमारे आज तक के कार्यों पर विश्वास जताते हुए यह अहम फैसला लिया है।

आपको बता दें कि रितु जायसवाल सीतामढ़ी जिले की जदयू की महिला प्रकोष्ठ की जिलाध्यक्ष थी।लेकिन कुछ ही दिन पहले रितु जायसवाल ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था उन्होंने कहा था कि जदयू पार्टी में लोकतंत्र की कमी है जिसकी वजह से वह इस्तीफा दे रही है।कहीं ना कहीं भी रितु जायसवाल का इस्तीफा देना जदयू के लिए एक बहुत बड़ा झटका था क्योंकि बिहार विधानसभा चुनाव बिल्कुल नजदीक आ चुकी है।लेकिन अब रितु जायसवाल को राजद ने अपना उम्मीदवार बनाया है

रितु जायसवाल ने तेजस्वी यादव और लालू यादव को धन्यवाद किया

इस विश्वास के लिए नेता प्रतिपक्ष श्री तेजस्वी यादव जी एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष आदरणीय श्री लालू प्रसाद यादव जी को हृदय से धन्यवाद। सिर्फ और सिर्फ अपने कार्यों के आधार पर हीं पहचान बनाने वाली एक मुखिया को आपने उम्मीदवार बनाना उचित समझा ये अपने आप में बदलाव का संकेत दे रहा है। इस सम्मान केलिए आपको जितना धन्यवाद दूँ वो कम होगा।

राजद परिवार के अभिभावक तुल्य वरिष्ठ कार्यकर्ताओं को अंतर्मन से प्रणाम करती हूँ। हर कदम पर आपके मार्गदर्शन की आवश्यकता होगी। और राजद परिवार के सभी सदस्यों को भी यह वचन देती हूँ कि पार्टी को कई सालों से आज तक आप जैसे लाखों कार्यकर्ताओं ने जिस शिद्दत से अपने खून पसीने से सींचा है, उस त्याग और परिश्रम का मान सदा बनाये रखूंगी। बिहार की जनता भी अब बदलती राजनीति का एक नए स्वरूप को आने वाले समय में महसूस करेगी।

सीतामढ़ी जिले के जदयू अध्यक्ष राणा रणधीर सिंह को संबोधित पत्र में रितु जायसवाल ने लिखा था,तकरीबन एक साल पूर्व जनता दल (यू) की सदस्य बनी. पार्टी की कर्मठ कार्यकर्ता होने के नाते नेतृत्व के द्वारा दी गई प्रत्येक छोटी बड़ी जिम्मेदारी का निर्वहन मैंने पूरी निष्ठा से किया. संगठन की मजबूती के लिए सबल पंचायत सक्रिय बूथ अभियान में भी मेरी भूमिका रही.’

नाराजगी जाहिर करते हुए रितु जायसवाल ने कहा था कि ‘इस दौरान उन्होंने पार्टी में आतंरिक लोकतंत्र का बहुत अभाव महसूस किया. इसकी वजह से कार्यकर्ताओं में काफी रोष थी। और वो पार्टी नेतृत्व के फैसले से आहत नजर आ रहे थी. लिहाजा जनभावनाओं का सम्मान करते हुए मैं जदयू की महिला प्रकोष्ठ की जिलाध्यक्ष पद और पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दी थी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *