Thursday, February 29
Shadow

RJD ने जारी किया चुनावी घोषणा पत्र, 10 लाख नौकरी और किसानों का कर्ज होगा माफ, संविदा प्रथा करने समेत कई बड़े वादे

बिहार विधानसभा को लेकर जहां एक और सभी पार्टी अपना घोषणापत्र जारी कर रही है।इसी कड़ी में आज राजद ने अपना घोषणापत्र जारी कर दिया है।इस पत्र में रोजगार, कृषि, उद्योग, उच्च शिक्षा, महिला सशक्तिकरण से लेकर स्मार्ट गांव तक पर जोर दिया गया है। पार्टी ने स्वयं सहायता समूह, पंचायती राज, स्वास्थ्य सेवा, खेल नीति सहित कुल 17 मुद्दों को प्राथमिकता दी है। मनोज झा ने कहा कि पहली कैबिनेट की बैठक में 10 लाख युवाओं को स्थाई सरकारी नौकरी दी जाएगी।आरजेडी ने अपने घोषणापत्र को प्रण पत्र का नाम दिया।

बता दे कि तेजस्वी यादव ने भाजपा पर निशाना साधते हुए पूछा की भाजपा वाले बताएं उनका मुख्यमंत्री कौन है?नीतीश कुमार?नीतीश कुमार ने तो पहले ही बंद कर दिया।अगर नेतृत्व नीतीश कुमार का है तो नीतीश कुमार ने तो पहले ही हाथ खड़ा कर दिया है तो बीजेपी वाले किसको बेवकूफ बना रहे हैं???
आगे कहा यह हमारा संकल्प है यह हमारा प्राण है जो सच होते दिख रहा है और यह हम करके दिखाएंगे हम बार-बार यही कहते आए हैं।उन्होंने नीतीश पर हमला बोला और कहा फिर से कहता हूं कि नीतीश कुमार से सत्ता नहीं संभल रहा है।थक गए है CM।

घोषणा पत्र के मुख्‍य वादे-

नए स्थाई पदों का सृजन कर के कुल 10 लाख नौकरियों की समय बाद बहाली की प्रक्रिया पहले ही कैबिनेट बैठक में पहली दस्तखत के साथ शुरू होगी।

संविदा प्रथा को खत्‍म कर सभी कर्मचारियों को स्थाई कर समान काम समान वेतन दिया जाएगा और सभी विभागों में निजीकरण को समाप्त किया जाएगा। 

रोजगार सृजन के उद्योगों को प्रोत्साहन के लिए नई औद्योगिक पॉलिसी के तहत प्रभावी टैक्स डिफरेंट एवं टैक्स वेइवर स्कीम लाई जाएगी, जिसमें नए उद्योगों की स्थापना के अंतर्गत किए गए निवेश निवेशकों में सब्सिडी एवं अधिक रोपित करों में एक निश्चित अवधि तक छूट दी जाएगी।

नियोजित शिक्षकों को वेतनमान कार्यपालक सहायकों लाइब्रेरियन उर्दू शिक्षकों की बहाली की जाएगी राज्य के मूलनिवासी युवाओं के भी सरकारी बहाली परीक्षाओं में फॉर्म निशुल्क होंगे तथा राज्य में के अंतर्गत गृह जिला से परीक्षा केंद्र तक की यात्रा मुक्त होगी। 

कार्यालय सहायक, सांख्यिकी स्वयं सेवक, लाइब्रेरियन ,उर्दू शिक्षकों, आंगनबाड़ी सेविका एवं सहायिका, आशा कर्मी,  ग्रामीण चिकित्सकों, जीविका दीदियों की मांगों को पूरा किया जाएगा। 

हेल्थ केयर सेक्टर में निजी एवं असंगठित क्षेत्रों के माध्यम से प्रत्यक्ष नौकरियों व परोक्ष रोजगार के लाखों अवसर सृजित किए जाएंगे।

जीविका कैडरों को नियमित वेतनमान पर स्थाई नौकरी के साथ समूहों के सदस्यों को ब्याज मुक्त ऋण देंगे।

कॉरपोरेट जगत के तकनीकी प्रशिक्षकों की देखरेख में सरकारी निर्देशानुसार कौशल विकास केंद्रों की स्थापना होगी जहां परंपरागत कौशल के साथ-साथ उद्योग जगत के प्रश्न कौशल सॉफ्ट स्किल्स का भी प्रशिक्षण दिया जाएगा।

हर जिले में रोजगार केंद्रों की स्थापना होगी अधिकतम 200 दिनों में कौशल योग्यता अनुरूप निजी व सरकारी उपक्रम में रोजगार देने अथवा रोजगार के विकल्प उपलब्ध करवाने की जिम्मेदारी होगी।

रोजगार प्रक्रिया में गैर-सरकारी बिचौलियों एजेंसियों को हटाकर सीधा युवाओं को लाभ दिया जाएगा।

श्रमिकों के हित में सरकारी विभागों उपक्रमों को निजी हाथों में जाने से रोकने का प्रावधान किया जाएगा।

बिहार में किसान आयोग, व्यवसायी आयोग, युवा आयोग और खेल आयोग का गठन किया जाएगा।

जदयू के हर खेत तक सिंचाई के पानी की व्यवस्था के मुद्दे को राजद ने भी अपने घोषणा पत्र में शामिल किया है। सभी सिंचाई पंप को सोलर पंप में तब्दील करने का वादा किया गया है। खेल नीति के तहत बिहार में बड़े खेल विश्वविद्यालय की स्थापना के साथ हर प्रमंडल में एक बड़े स्टेडियम के स्थापना को भी एजेंडे में शामिल किया गया है। राजद ने वृद्धा पेंशन में पुरानी व्यवस्था लागू करने की बात कही है। 35 साल तक के बेरोजगारों को 15 सौ रुपए मासिक बेरोजगारी भत्ता देने की बात कही गई है। इसके अलावा गांव को स्मार्ट बनाने पर जोर दिया गया है।

बिहार और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें DTW 24 NEWS UPDATE Whatsapp Group:- https://chat.whatsapp.com/E0WP7QEawBc15hcHfHFruf

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *