Friday, March 1
Shadow

दूसरी बार कोरोना संक्रमण हो सकता है ज्यादा गंभीर, पढ़ें- इसके पीछे का कारण

कोरोना वायरस (कोविड-19) को लेकर एक नया अध्ययन किया गया है। इसमें पाया गया है कि दूसरी बार कोरोना की चपेट में आने वाले पीडि़तों में संक्रमण अधिक गंभीर हो सकता है। ऐसे रोगियों को पहले की तुलना में ज्यादा गंभीर लक्षणों का सामना करना पड़ सकता है।

लैंसेट इंफेक्शस डिजीज पत्रिका में छपे अध्ययन के अनुसार, अमेरिका की नेवादा यूनिवर्सिटी के विज्ञानियों ने 48 दिन के अंदर एक 25 साल के युवक को दूसरी बार संक्रमित पाया। दूसरी बार संक्रमित होने वाले इस पीडि़त में ज्यादा गंभीर लक्षण देखने को मिले। नतीजन उसे अस्पताल में भर्ती करना पड़ा। गत अप्रैल में कोरोना से उबरने वाले इस रोगी को जून में फिर संक्रमित पाया गया। इस बार उसमें बुखार, सिरदर्द और खांसी जैसे लक्षण गंभीर रूप से उभरे थे।

यह भी पढ़े :-एनसीबी ने भागलपुर में छापेमारी कर 4 क्विंटल गांजा किया बरामद, 3 गिरफ्तार

शोधकर्ताओं के मुताबिक, इससे यह जाहिर होता है कि अगर आप एक बार कोरोना से ठीक हो गए हैं तो इसका मतलब यह नहीं है कि आपके शरीर में इम्यूनिटी पूरी तरह विकसित हो गई है। यह सोचना सही नहीं है। हालांकि दूसरी बार संक्रमित हुए लोगों के मामलों में गहन अध्ययन की जरूरत है। इससे रोकथाम के उपायों पर जोर दिया जा सकता है। नेवादा यूनिवर्सिटी के शोधकर्ता मार्क पंडोरी ने कहा, ‘अब भी कई लोगों को कोरोना संक्रमण और इम्यून रिस्पांस के बारे में जानकारी नहीं है, लेकिन हमारे निष्कर्षो से जाहिर होता है कि यह जरूरी नहीं कि पहली बार के संक्रमण से शरीर में पर्याप्त इम्यूनिटी विकसित हो गई हो।’ उन्होंने कहा, ‘कोरोना से उबरने वाले लोगों को बचाव के उपायों का पालन करते रहना चाहिए।’ 

बिहार और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें DTW 24 NEWS UPDATE Whatsapp Group:- https://chat.whatsapp.com/E0WP7QEawBc15hcHfHFruf

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *