Monday, February 26
Shadow

BJP से चिराग पासवान का सवाल, अगर LJP वोट कटवा पार्टी है तो 2014 से क्यों रखे हैं साथ?

चिराग पासवान का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मेरे पिता राम विलास पासवान को बहुत सम्मान दिया है। मैं प्रधानमंत्री के साथ हूं और उनका बहुत सम्मान भी करता हूं।

बिहार विधानसभा चुनाव की वोटिंग के लिए कुछ दिन ही बचे है।लेकिन एलजेपी अध्यक्ष चिराग पासवान और भारतीय जनता पार्टी के बीच बयानबाजी शुरू हो गई है।दरअसल भाजपा नेताओं ने शुक्रवार को लोजपा पर चौतरफा हमला बोला।उसके बाद केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर के बयान पर चिराग पासवान ने प्रतिक्रिया देते हुए भाजपा को घेरा है।चिराग पासवान ने एक न्यूज चैनल से बातचीत के दौरन कहा कि यदि हम वोट कटवा हैं तो भाजपा ने साल 2014 से क्यों साथ रखा है?उन्होंने आरोप लगाया कि सीएम नीतीश के दबाव में भाजपा ऐसे बयान दे रही है। उसे अपने विवेक का इस्तेमाल करना चाहिए। चिराग पासवान ने साफ शब्दों में कहा, यदि नीतीश कुमार मुख्यमंत्री बने तो एनडीए में नहीं रहूंगा।

ये भी पढ़े :- जेडीयू प्रवक्ता अभिषेक झा ने कहा- तेजस्वी यादव ने फिर अपरपिक्वता का परिचय दिया

आगे उन्होंने ने कहा कि प्रधानमंत्री ने मेरे पिता (रामविलास पासवान) को बहुत सम्मान दिया।मैं पीएम के साथ हूं और उनका सम्मान करता हूं।चुनाव होली की तरह है।इसमें कई रंग दिखते हैं।होली की तरह चुनाव के बाद भी लोग नहा-धोकर तैयार हो जाते हैं।चिराग ने कहा कि 143 सीटों पर चुनाव लड़ने का फैसला मेरा है।हम जेडीयू के खिलाफ उम्मीदवार उतारेंगे।कुछ बीजेपी के नेता नीतीश कुमार के इशारे पर बयान दे रहे हैं, लेकिन बिहार में बीजेपी और एलजेपी की सरकार बनेगी।

भाजपा और लोजपा के बीच अंदरूनी साठगांठ
‘वोट कटवा’ का प्रयोग सामान्यत: उस राजनीतिक दल या उम्मीदवार के लिए किया जाता है जो चुनाव तो नहीं जीत सकता लेकिन वोट काटकर किसी दूसरे दल के प्रत्याशी का हरा सकता है। उल्लेखनीय है कि लोजपा के नेता और चिराग पासवान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की तारीफ करते रहे हैं जबकि नीतीश कुमार पर वह निशाना साधते रहते हैं। इसकी वजह से चर्चा आम है कि भाजपा और लोजपा के बीच अंदरूनी साठगांठ हैं।

ये भी पढ़े:- अब चिराग बीजेपी आमने-सामने, चिराग ने कहा- अगर नीतीश बने सीएम तो एनडीए में नहीं रहूंगा

नीतीश ने अपने रैली में कहा था, “किस तरह से हमने काम करना शुरू किया है। गांव-गांव में और विकेंद्रित तरीके से काम किया। अगर कोई आते बड़े-बड़े उद्योगपति यहां पर उद्योग लगाते तो उसी को लोग देखते और कहते बड़ा उद्योग हो रहा है। लेकिन अब वो नहीं आए क्योंकि चारों तरफ से हम लोग घिरे हुए वाले इलाके हैं। ज्यादा बड़ा उद्योग कहां लगता,समुद्र के किनारे जो राज्य पड़ते हैं, उन्हीं जगहों पर ज्यादा लगता है। हम लोगों ने तो बहुत कोशिश किए लेकिन ये हो नहीं पाया।

हालांकि नीतीश कुमार का यह दावा बहुत सही नहीं ठहरता। सिर्फ बिहार ही ऐसा राज्य नहीं जो चारों ओर जमीन से घिरा हुआ है। झारखंड, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, हिमाचल, दिल्ली, हरियाणा, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, पंजाब, राजस्थान, असम जैसे कई राज्य हैं, जिनके चारों ओर जमीन है। लेकिन, इनमें से कई राज्यों में बिहार की तुलना में अधिक फैक्ट्रियां हैं। 

जानकारी के लिए आपको बता दें कि बीते शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा था चिराग पासवान ने राज्य में अलग रास्ता चुना है। पासवान लोगों को भाजपा के वरिष्ठ नेताओं का नाम लेकर गुमराह करने का प्रयास कर रहे हैं। हमारी कोई B या C टीम नहीं है। बिहार चुनाव में एनडीए को तीन-चौथाई बहुमत मिलेगा।वहीं एलजेपी वोटकटवा पार्टी के रूप में सामने आएगी।

बिहार और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें DTW 24 NEWS UPDATE Whatsapp Group:- https://chat.whatsapp.com/E0WP7QEawBc15hcHfHFruf

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *