Friday, February 23
Shadow

कुढ़नी उपचुनाव को लेकर ललन सिंह ने भरी सभा में लोगों से मांगी माफी, कहा- गलती हुई हो तो क्षमा करें…

MUZAFFARPUR: बिहार के कुढ़नी विधानसभा सीट को लेकर होने वाले उपचुनाव में महज कुछ ही दिन शेष रह गए हैं। आगामी 5 दिसंबर को उपचुनाव के लिए वोटिंग होनी है। ऐसे में सभी दलों ने उपचुनाव में जीत दर्ज करने के लिए अपना पूरा जोर लगा दिया है। कुढ़नी उपचुनाव में जेडीयू के मनोज कुशवाहा को महागठबंधन ने अपना संयुक्त उम्मीदवार बनाया गया है। महागठबंधन के बड़े नेताओं ने आज कुढ़नी पहुंचकर मनोज कुशवाहा के पक्ष में वोट की अपील की। सभा को संबोधित करते हुए जेडीयू उम्मीदवार मनोज कुशवाहा के साथ साथ पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने खुले मंच से माफी मागी। उन्होंने कहा कि अगर जेडीयू उम्मीदवार मनोज कुशवाहा से विधायक रहते कोई गलती हुई है तो उन्हें जनता माफ करे।

दरअसल, जेडीयू उम्मीदवार मनोज कुशवाहा की जीत को सुनिश्चित करने के लिए महागठबंधन ने अपना पूरा जोर लगा दिया है। मनोज कुशवाहा के समर्थन में मुजफ्फरपुर के कुढ़नी में बुधवार को चुनावी सभा का आयोजन किया गया, जिसमें जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह, डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव और जीतन राम मांझी समेत महागठबंधन के तमाम बड़े नेता शामिल हुए। चुनावी सभा को संबोधित करते हुए ललन सिंह और डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव समेत सभी नेता बार बार जनता से पूर्व की गलतियों के लिए माफी मांगते रहे।

सभा को संबोधित करते हुए पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने कहा कि जेडीयू उम्मीदवार 10 साल तक कुढ़नी के विधायक रहे, अगर जाने अनजाने में उनसे कोई भूल हुई हो तो उन्हें क्षमा करते हुए जनता उन्हें फिर से जीताने का काम करे। उन्होंने कहा कि कुढनी का चुनाव सिर्फ कुढ़नी का चुनाव नहीं है बल्कि देश को दिशा देने वाला चुनाव है। उन्होंने कहा कि मनोज कुशवाहा सांकेतिक रूप से महागठबंधन के उम्मीदवार हैं। कुढ़नी की लड़ाई सांकेतिक लड़ाई है। ललन सिंह ने कहा कि देश आज भारी संकट से गुजर रहा है। केंद्र की सत्ता में बैठी बीजेपी ने देश की सारी संस्थाओं को ध्वस्त करने का काम किया है। देश की मूल समस्या महंगाई और बेरोजगारी कर केंद्र की सरकार कभी कोई चर्चा नहीं करती है।

ललन सिंह ने कहा कि अगर देश में महंगाई और बेरोजगारी की चर्चा शुरू हो गई तो नरेंद्र मोदी का पूरे देश में खाता भी नहीं खुलेगा। इसलिए लोगों के भ्रमित करने का काम किया जा रहा है। धार्मिक उन्माद फैलाने के लिए दिनभर मीडिया में प्रचार किया जाता है। देश के प्रधानमंत्री समाज को अलग-अलग धर्मों में बांटने का प्रचार करते हैं। उससे देश की जनता को सतर्क रहने की जरूरत है और 2024 में बीजेपी को सत्ता से उखाड़ फेंकने के लिए महागठबंधन बना है और यह महागठबंधन अटूट है। इस दौरान ललन सिंह ने मीडिया पर अपनी जमकर भड़ास निकाली। ललन सिंह ने कहा कि मीडिया को पहले लोकतंत्र का चौथा स्तंभ माना जाता था लेकिन आज देश की सभी मीडिया संस्थानों पर पूंजीपतियों का कब्जा हो चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *