Sunday, April 14
Shadow

“ये आरजू थी कि हंस कर कोई मिला होता” गजल गायक पदमश्री  पंकज उदास नहीं रहे, 72 साल की उम्र में लिया आखिरी सांस

बॉलीवुड के मशहुर गजल गायक पंकज उदास लंबी बीमारी से लड़ते हुए आज आखिरी सांस लिया। वे काफी लंबे समय से उम्र संबंधी बीमारी से गुजर रहे थे। उन्हें 10 दिन पहले ईलाज के लिए अस्पताल में भर्ती किया था। जहां उन्होंने 72 साल की उम्र में अपनी आखिरी सांस ली। वहीं पंकज उदास के इस मौत की खबर को पंकज उदास की बेटी नायाब उधास की बेटी नायाब उदास ने पोस्ट के जरिए शेयर किया है। उनका अंतिम संस्कार मंगलवार को किया जाएगा।

वे पूरे बॉलीवुड के साथ-साथ बॉलीवुड फैंस के दिलों में राज करने वाले गजल गायक थे। उनका गजल लोंगो के दिलों तक पहंचता था। हर उम्र के लोग वो चाहें उम्रदराज हो या युवा बस इनके गजल के फैन हुआ करते। उन्होंने अपने करीयर की शुरूआत 1980 में आहट नामक एक गजल एल्बम के रीलीज के साथ की। गजल गायक के रूप में उनकी सफलता के बाद महेश भट्ट की फिल्म नाम में अभिनय  के लिए आमंत्रित किया गया

उधास को 1986 की फिल्म नाम में गाने से प्रसिद्धी मिली, जिसमें उन्होंने गाना “ चिटठी आई है” गाया था। जो उस समय तुरंत हिट हो गया था। यह गाना लोंगो ने खूब पंसद किया था। जिसके बाद उन्हें प्रसिद्धी मिलती चली गयी। वहीं 2006 में पंकज उदास को भारत के चौथे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *