Friday, February 23
Shadow

पुष्पम प्रिया ने घोषित किए अपने पहले चरण के लिए 40 उम्मीदवार

बिहार विधानसभा चुनाव की तारीखों का एलान हो जाने के बाद सभी पार्टिया अपने उम्मीदवारों की लिस्ट तैयार करने में जुटी है।प्लूरल्स पार्टी की अध्यक्ष पुष्पम प्रिया चौधरी ने पहले चरण में 71 सीटों पर होने वाले चुनाव को देखते हुए अपने 40 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की है।

पुष्पम प्रिया चौधरी ने इस बात की जानकारी अपने फेसबुक पेज पर दी और कहा कि अगले 24 से 36 घंटे के अंदर पहले चरण के लिए बचे बाकी 31 उम्मीदवारों के नाम की घोषणा कर देंगी।

नालंदा से जनसंपर्क अभियान की शुरुआत

बता दें कि पुष्पम प्रिया चौधरी ने अपने जनसंपर्क अभियान की शुरुआत मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृह जिला नालंदा से की थी। अपने जनसंपर्क अभियान के दौरान वो कृषि उद्यमी सुमंत कुमार के घर पहुंचीं और उन्हें अपनी पार्टी की सदस्यता ग्रहण कराई थी।

प्लूरल्स पार्टी ने उम्मीदवारों की जो पहली सूची जारी की है उसमें दिलचस्प बात यह है कि एक तरफ जहां सभी उम्मीदवार सामाजिक कार्यकर्ता, शिक्षक, किसान, प्रोफेसर, वकील, इंजीनियर, मर्चेंट नेवी, डॉक्टर पेशे से ताल्लुक रखते हैं। वहीं दूसरी तरफ इस लिस्ट में एक धर्म का कॉलम भी है जहां पर सभी उम्मीदवारों का धर्म “बिहारी” बताया गया है।

अपने जनसंपर्क अभियान की शुरुआत करने के दौरान पुष्पम प्रिया ने फेसबुक पर लिखा था कि उनकी पार्टी ‘प्लूरल्स’ की योजना बहुत स्पष्ट है- अंतर्राष्ट्रीय ज्ञान और जमीनी अनुभव की साझेदारी ताकि कृषि क्रांति, औद्योगिक क्रांति और नगरीय क्रांति की नई कहानी लिखी जा सके।

बता दें, लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स से पढ़ाई करने वाली पुष्पम प्रिया चौधरी इसी साल के शुरुआत में बिहार के सभी अखबारों में एक विज्ञापन देकर सुर्खियों में आई थीं जब उन्होंने ऐलान कर दिया था कि उनकी पार्टी 2020 बिहार विधानसभा चुनाव लड़ेगी और वह अपनी पार्टी की मुख्यमंत्री उम्मीदवार होंगी।

बिहार में अचानक से इस तरीके के विज्ञापन को देखकर राजनीतिक गलियारों में हड़कंप मच गया था और सभी यह जानने के लिए बेचैन हो गए थे की आखिर यह कौन महिला है जो अचानक से बिहार की राजनीति में उतर गई है और खुद को मुख्यमंत्री के उम्मीदवार के रूप में प्रस्तुत कर दिया है।

बताया जाता है कि पुष्पम के पिता विनोद चौधरी सीएम नीतीश कुमार के करीबी हैं. लेकिन, पुष्पम का सीएम कैंडिडेट बनकर चुनाव में खड़े होना सीधे-सीधे नीतीश को चुनौती देना है. उन्हीं के पार्टी के नेता की बेटी उन्हें चैलेंज कर रही है।

हलाकि खबर ये भी आ रही हैं की वो बांका और बिसफी से चुनाव में उतरने वाली हैं और वो घूम -घूम कर लोगो से खोइछा भी मांग रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *