पटना में हुड़दंग करने वाले हो जाएं सावधान! सरस्वती पूजा पर प्रशासन सख्त, पीयू के हॉस्टल में जांच शुरू

Advertisement

विद्यादायिनी मां सरस्वती की पूजा (Saraswati Puja 2023 ) इस बार 26 जनवरी को है. स्कूल कॉलेजों में गणतंत्र दिवस के मौके पर जहां झंडोत्तोलन होगा तो उसी दिन सरस्वती पूजा भी होगी. सरस्वती पूजा के दौरान पूजन करने वाले छात्रों पर पुलिस की पैनी नजर है. पटना में पुलिस  ने सभी पूजा स्थलों पर विशेष निगरानी रखी है और पंडाल से लेकर विसर्जन तक पूजा आयोजकों के क्रियाकलाप पर नजर बनाए बनाई हुई है.

Join

साढ़े तीन हजार सरस्वती प्रतिमा बैठने का रजिस्ट्रेशन

Advertisement

पटना के वरीय पुलिस अधीक्षक मानव जीत सिंह ढिल्लों ने जानकारी देते हुए बताया कि जिले में साढ़े तीन हजार सरस्वती प्रतिमा बैठने का रजिस्ट्रेशन कराया गया है. उन सभी पर पुलिस की नजर बनी हुई है. इसमें पुलिस जबरन चंदा काटने वालों पर भी कार्रवाई कर रही है. पूजा स्थल से लेकर तेज आबाज में लाउडस्पीकर बजाने एवं हुड़दंग करने पर भी पुलिस की नजर रहेगी. विसर्जन के दौरान किसी प्रकार का हुड़दंग बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. पटना में विसर्जन के लिए रूट तय किया गया है. उसी रूट पर पूजा आयोजक प्रतिमा को ले जाएंगे.

अभी से पटना में पुलिस की शुरू हो चुकी है कार्रवाई

पटना एसएसपी ने जानकारी देते हुए बताया कि पटना में बडे़ सरस्वती पूजा के पंडाल, हॉस्टलों और कॉलेजों में आयोजित होने वाली पूजा में कम से कम 20 वोलेंटियर की तस्वीर के साथ आईडेंटिटी कार्ड बनवाए जा रहे हैं. सभी लोग पुलिस की निगरानी में रहेंगे. पहले भी सरस्वती पूजा को लेकर पटना में हंगामे हुए हैं उसमें चिन्हित लोगों पर 107 के तहत कार्रवाई भी की गई है. एसएसपी ने बताया कि बहादुरपुर थाना क्षेत्र के सैदपुर छात्रावास में जबरन चंदा की उगाही करने वाले सात से आठ छात्रों पर एफआईआर दर्ज हुई है और दो लोगों को कुछ दिन पहले गिरफ्तार किया गया है.

पटना यूनिवर्सिटी के छात्रवासों में जांच शुरू

आगे उन्होंने कहा कि विसर्जन जुलूस के लिए भी रूट तय है. जो बड़े विसर्जन जुलूस निकलेंगे उसमें  पुलिस टीम को मार्ग में रक्षा के लिए निकाला जाएगा. इसके साथ ही सभी स्टैटिक बल के साथ-साथ अनुमंडल स्तर पर सिक्योरिटी की टीम को भी तैनात रहने के आदेश जारी किए गए हैं. एसएसपी ने बताया कि पुलिस की नजर पटना यूनिवर्सिटी पर विशेष रूप से है. पटना यूनिवर्सिटी के सभी छात्रावासों की बारीकी से जांच कराने का कार्य शुरू कर दिया गया है क्योंकि पहले भी यहां हंगामे और झगड़े हो चुके हैं. इसको लेकर पुलिस पूरी तरह सतर्क है.
 
मानक से अधिक आवाज में लाउडस्पीकर बजाने पर होगी कार्रवाई

उन्होंने बताया कि पूजा पंडाल में लाउडस्पीकर बजाने और विसर्जन में डीजे बजाने पर भी पुलिस की निगरानी रहेगी .इसके लिए संबंधित अनुमंडल अधिकारी से परमिशन लेना होगा. पंडाल मे अगर लाउडस्पीकर बजाते हैं तो मानक ध्वनि पर ही लाउडस्पीकर बजेगा. मानक से अधिक बजाने पर कार्रवाई की जाएगी. तेज आवाज में लाउडस्पीकर बजाने की अनुमति नहीं दी जाएगी. अगर रात 10:00 बजे के बाद तक लाउडस्पीकर बजाते हैं तो उन पर कार्रवाई होगी. उपद्रवी तत्वों पर पुलिस की विशेष नजर बनी है. उन्होंने बताया कि पूजा विसर्जन के दौरान बिना अनुमंडल अधिकारी के अनुमति के बगैर डीजे बजाने पर कार्रवाई होगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here