सच बोलने वाले मंत्री से नीतीश नाराज, किसानों की समीक्षा बैठक में कृषि मंत्री को नहीं बुलाया….

Advertisement

Patna : बिहार में कृषि विभाग में फैले भ्रष्टाचार पर आवाज उठाने वाले मंत्री सुधाकर सिंह से नीतीश कितने नाराज हैं. इसका अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि बिहार में सूखे से पीड़ित किसानों को सरकारी मदद देने के लिए एक समीक्षा बैठक बुलाई गई थी लेकिन इस बैठक में सूबे के कृषि मंत्री सुधाकर सिंह को नहीं बुलाया गया. सीएम की इस बैठक में कृषि विभाग के सचिव की मौजूदगी और रिपोर्ट की समीक्षा किया गया. आपको बता से इस बैठक में आपदा प्रबंधन मंत्री शाहनवाज हुसैन आए थे.

Join

विदित हो कि कृषि मंत्री सुधाकर सिंह ने कृषि विभाग में ऊपर से नीचे तक फैले भ्रष्टाचार के खिलाफ अपनी आवाज उठाई थी सुधाकर सिंह बिल्कुल खुलकर कह रहे हैं कि पूरा विभाग चोर है. और वह चोरों के सरदार बनकर बैठे हैं. सुधाकर सिंह नीतीश कुमार की कृषि नीति को भी एकदम बेकार करार दे चुके हैं पिछले ही मंगलवार को कैबिनेट की बैठक में इस मसले पर सुधाकर सिंह की नीतीश कुमार से कहासुनी हो गई थी जिसके बाद सुधाकर कैबिनेट की बैठक से उठकर चले गए थे.
जानकारी के लिए बता दें शनिवार को नीतीश कुमार ने बिहार में सूखे की स्थिति की समीक्षा बैठक की. सूखे को लेकर सारे मामले कृषि विभाग से ही जुड़े होते हैं. लेकिन इस बैठक में कृषि मंत्री को ही मौका नहीं दिया गया. कृषि मंत्री के बदले कृषि सचिव एन सरवण कुमार बैठक में मौजूद रहे हैं. उन्होंने यह बताया कि राज्य में सूखे की क्या स्थिति है. और राज्य सरकार ने सूखा पीड़ित किसानों को किस तरह से मदद किया है. सचिव ने यह भी बताया कि सूखा पीड़ित किसानों के बीच 62 करोड़ रुपए डीजल अनुदान के रूप में अभी तक बांटे जा चुके है. किसानों को 12 तरह के बीज भी दिए जा रहे हैं. लगभग पौने तीन लाख किसानों को फसल बीच अब तक दिए जा चुके हैं. वहीं साढ़े चार लाख किसानों को डीजल का अनुदान दिया गया है.

Advertisement

हालांकि बिहार के कृषि मंत्री इन्हीं सारे सरकारी आंकड़ों पर अब तक सवाल उठाते रहे हैं सुधाकर सिंह लगातार ऐसा कह रहे हैं कि किसानों के बीच वितरण के नाम पर बहुत बड़ा फर्जीवाड़ा किया जा रहा है ऐसे में सरकार के लिए ज्यादा सुविधाजनक यही रहा कि कृषि मंत्री की गैरमौजूदगी में ही बीज और डीजल अनुदान वितरण का आंकड़ा रख दिया जाए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here