पोते को खोने के डर से कोरोना पॉजिटिव दादा-दादी ने लगाई ट्रेन के आगे लगाई छलांग

पोते को खोने के डर से कोरोना पॉजिटिव दादा-दादी ने लगाई ट्रेन के आगे लगाई छलांग
Advertisement

कोराना काल के भयावह हालात में कोचिंग सिटी कोटा से बेहद डराने वाली खबर सामने आई है. यहां कोरोना पॉजिटिव एक दंपति ने इसलिये ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली क्योंकि उन्हें डर था कि उनकी वजह से पोता संक्रमण से पीड़ित हो सकता है. घटना की सूचना के बाद इलाके में मातम पसर गया वहीं दंपति के परिवार में कोहराम मच गया.

Advertisement

पुलिस उपाधीक्षक भगवत सिंह हिंगड़ ने बताया कि घटना रविवार को हुई. यहां रेलवे कॉलोनी इलाके में पुरोहित जी की टापरी में रहने वाले हीरालाल बैरवा (75) और उनकी पत्नी शांति बैरवा (75) की एक दिन पहले ही कोरोना रिपोर्ट पोजिटिव आई थी. इसके चलते वे दोनों तनाव में चल रहे थे. उन्हें घर पर ही क्वॉरेंटाइन किया गया था. लेकिन दोनों को इस बात की चिंता सता रही थी कि कहीं उनके पोते रोहित को उनसे संक्रमण का खतरा नहीं हो जाये.

8 साल पहले बेटे को खो दिया था इस दंपति ने

रविवार को दोनों परिजनों को बिना बताये घर से निकल गए. बाद में कोटा की तरफ से दिल्ली जाने वाले ट्रैक पर जा पहुंचे और ट्रेन के आगे छलांग लगाकर अपनी जान दे दी. सूचना मिलने पर रेलवे कॉलोनी थाना पुलिस ने मौके पर पहुंचकर दंपति के शवों को शवों को वहां से उठवाकर एमबीएस अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया. प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि इस दंपति ने 8 साल पहले अपने जवान बेटे को खो दिया था. उसके बाद वे अब वे पोते को खोना नहीं चाहते थे. पुलिस मामले की जांच में जुटी है.

कोटा में बेहद खतरनाक हो रहे हैं कोरोना के हालात

उल्लेखनीय है कोटा भी राजस्थान के सर्वाधिक संक्रमित शहरों में शुमार है. यहां कोरोना के हालात बेदह खतरनाक हो रखे हैं. कोटा में पहली लहर से अब तक करीब 600 पुलिसकर्मी और पुलिस के अधिकारी भी कोरोना संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं. शहर के अस्पताल कोरोना पीड़ितों से भरे हुये हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here