जानिए क्या है बारिश मे नहाने के फायदे और नुकसान ….

Advertisement

Desk: बारिश का मौसम आते ही प्रकृति में एक अलग सी सुंदरता देखने को मिलती है. बारिश के आते ही लोगों में खुशी का माहौल हो जाता है और लोगों को बारिश में भीगना काफी पसंद भी आता है. वैसे भी बारिश के पानी में नहाना किसे पसंद नहीं होता है. लेकिन क्या आपको पता है, कि इस पानी से नहाने से हमें कई तरह की फायदे मिल सकते हैं, और नुकसान भी. अगर नहीं, तो आज हम आपको बारिश के पानी से नहाने के फायदे नुकसान के बारे में बताते हैं.

Join

बारिश में नहाने के फायदे

Advertisement

दरअसल बार‍िश में नहाने के कई स्‍वास्‍थ्‍य लाभ बताए गए हैं. बारिश के पानी में यदि आप नहाएं, तो घमौर‍ियां दूर होने के साथ-साथ आपका बॉडी टेंपरेचर भी संतुलित बना रह सकता हैं.

बालों के लिए फायदेमंद
बारिश के मौसम में अक्सर बाल झड़ने की समस्या सुनने को मिलती है. लेकिन ऐसे में यदि आप बारिश के पानी से नहाएं, तो आपके बाल की गंदगी धुल सकती है और आपके बाल स्वस्थ और हेल्दी हो सकते हैं.

विटामिन बी12
बारिश का पानी बेहद हल्का और क्षारीय होता है. इस पानी में दिमाग और शरीर को तरोताजा करने की क्षमता पाई जाती है. तो यदि आप गर्मी के दिनों में बारिश के पानी से नहाएं, तो आपके शरीर को विटामिन बी12 प्राप्त हो सकती है.

हार्मोनल चेंजेज को रखे बैलेंस
गर्मी के दिनों में बारिश में नहाने से हमारे शरीर का हार्मोन संतुलित रहता है. बता दें, बारिश के पानी से नहाने से ना केवल हार्मोन संतुलित रहता है, बल्कि कान दर्द की समस्या में भी यह रामबाण की तरह काम करता है.

रैशेज होते है दूर
बरसात के मौसम में अक्सर घमौरी, रैशेज और तरह-तरह की त्‍वचा संबंधी समस्‍याएं हो जाती हैं, और यह सारी समस्या अधिकतर पसीने की वजह से होता है. तो यदि आप गर्मी के दिनों में बारिश के पानी में नहाएं, तो आपका बॉडी टेंपरेचर सही रहेगा और आप के शरीर में रैशेज निकलने बंद हो जाएंगे.

तनाव को करे दूर
बारिश के पानी में एंडोफार्मिन और सेरोटोनिन जैसे हैप्पीनेस हार्मोन रिलीज होते हैं, जो तनाव को दूर करने में काफी मदद करते हैं.

बारिश में नहाने के नुकसान

अगर आप सबसे शुरुआती बारिश में नहा रहे है तब सावधान रहे क्यों की ये आपकी स्किन के लिए खतरनाक हो सकता है. अगर लम्बे समय तक बारिश हो रही है तो आपको कुछ समय रुक कर फिर नहाना चाहिए.

असल में शुरुआती बारिश अपने साथ वातावरण के अन्दर की सभी दूषित चीजे और हवा को साथ में लाती है. यही वजह है की बारिश के बाद आप दूर तक एकदम साफ़ देख पाते है. बारिश में नहाए लेकिन एकदम से नहीं बल्कि कुछ देर बाद.

बारिश का पानी सूक्ष्म जीवाणुओं (microbes) के कारण दूषित हो जाता है जिसे पीने पर पेट में संक्रमण पैदा हो जाता है. इसलिए संभव हो तो बारिश का पानी पीने से बचना चाहिए.

बारिश के पानी में कई तरह के धातु (metal) और आर्सेनिक मिले होते हैं जो स्वास्थ्य की दृष्टि से काफी हानिकारक होते हैं इसलिए बारिश के पानी से परहेज करना चाहिए.

बता दे यदि किसी व्यक्ति की त्वचा संवेदनशील है तो बारिश के पानी से उसे खुजली होने लगती है और चेहरे एवं शरीर पर दाने उभर आते हैं, इसलिए संवेदनशील त्वचा वाले लोगों के लिए बारिश का पानी नुकसानदायक (harmful) हो सकता है. साथ ही बारिश के पानी से बालों में चिपचिपाहट पैदा हो सकती है बाल अधिक टूट सकते हैं, इसलिए यदि संभव हो तो बारिश में भीगने के बाद बालों को अच्छी तरह से पोंछने के बाद सुखा लेना चाहिए.

बरसात का पानी कई बीमारियां (diseases) उत्पन्न करता है, यह घावों जल्दी सूखने नहीं देता है और उनमें सड़न पैदा कर देता है. बारिश के पानी से पैरों की उंगलियों में तेज खुजली होती है, उंगलियों की त्वचा मृत हो जाती है और कभी-कभी उंगलियों के बीच सड़न पैदा होने लगती है. इसलिए पैरों को बारिश के पानी से बचाकर रखना चाहिए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here