अग्निपथ मामले को लेकर जदयू और भाजपा आए आमने-सामने, तेजस्वी भी आग बबूला

Advertisement

Bihar: अग्निपथ योजना पर अब सियासी रंग भी  चढने  लगा है. बिहार के कई  जिलों में छात्रों का प्रदर्शन चल ही रहा है  इसी बिच उपेंद्र कुशवाहा ने एक ट्वीट किया है जिसमें उन्होने सरकार  से इस योजना पर पुनर्विचार का आग्रह किया है. मतलब साफ है कि एनडीए के अंदर ही इस योजना का विरोध शुरू हो गया है. एक और भाजपा जहां इसे बेरोजगारी दूर करने का मास्टरस्ट्रोक बता रही है वहीं उपेंद्र कुशवाहा ने पुनर्विचार करने का आग्रह किया है. मंत्री विजेंद्र यादव ने भी इस योजना पर सवाल उठाया है.

Join

इसी कड़ी में आज आरजेडी नेता और बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने केंद्र सरकार पर बड़ा हमला बोला है. उन्होंने कहा है कि अग्निपथ योजना संविदा नहीं बल्कि शिक्षित युवाओं के लिए सेना में एक तरह से NAREGA स्कीम लागू की गई है. नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने अपने ट्विटर हैंडल के माध्यम से लिखा है-  ‘2022 तक 80 करोड़ को नौकरी-रोजगार देने का इनका “संकल्प” था. अब वर्षों बाद अग्निपथ संविदा नहीं बल्कि शिक्षित युवाओं के लिए सेना में एक तरह से NAREGA स्कीम लागू की गई है. इनके वादों, जुल्मों और इरादों को तो छोड़िए, जब प्रचंड बहुमत की सरकार के “संकल्प” का यह हश्र है तो बाकी का क्या ?’

Advertisement

बता दें कि केंद्र सरकार ने 2022 तक 80 करोड़ लोगों को नौकरी-रोजगार देने का वादा किया था तेजस्वी ने पेपर की एक पुरानी कटिंग भी शेयर की है, जिसमें लिखा है, 2022 तक 80 करोड़ को नौकरी-रोजगार देना हमारा सपना है और ये हमारा संकल्प भी है. यह बातें कोई और नहीं बल्कि खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कही थी. अब इसको लेकर तेजस्वी यादव ने मोदी पर बड़ा हमला भी  बोला है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here