बिजली मिस्त्री का बेटा बना DSP, BPSC में अपना लोहा मनवाया… गांव में जश्न का माहौल

Advertisement

बिहार लोक सेवा आयोग की 66वीं संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा का परिणाम बुधवार देर रात को जारी हुआ. इस बार छोटे शहरों के कई गुदड़ी के लाल ने अपनी प्रतिभा का परचम लहराया है. सफल होने वालों में कोई किसान का बेटा तो कोई डाककर्मी का. किसी के अभिभावक पंचर बनाने का काम करते हैं तो कोई आंगनबाड़ी सेविका का सपूत है. इसी क्रम में एक है जहानाबाद जिले के गंगापुर गांव के निवासी बिजली मिस्त्री राजदेव चंद्रवंशी का बेटा सुनील सक्सेना. बीपीएससी 66वीं के रिजल्ट में सुनील ने 27वां स्थान प्राप्त किया है.

Join

सुनील सक्सेना की सफलता के बाद से ही गांव में जश्न का माहौल है. मिठाइयां खिलाई जा रही हैं. दरअसल, यह खुशी मौका खास है क्योंकि यह अवसर लंबे इंतजार के बाद आया है. जहानाबाद जिले के कड़ौना ओपी, गंगापुर गांव के रहने वाले सुनील बताते हैं कि इसके पहले तीन बार बार कोशिश की थी, लेकिन थोड़ी सी चूक से सफलता हाथ आने से रह गई. चौथे प्रयास में जब सफलता हाथ लगी तो खुशी से फूले नहीं समा रहे.

Advertisement

सुनील बताते हैं कि लॉकडाउन में उन्हें दिल्ली छोड़कर गांव आना पड़ा और 2 साल से गांव में ही तैयारी कर रहे थे. गांव में तैयारी करना इंटरनेट और किताबों की वजह से आसान हो गया. लगातार नोट्स पढ़ाई की और अंततः सफलता हाथ लगी. सुनील की सफलता से घर परिवार के साथ ही गांव के लोगों ने भी खुशी का माहौल है.

पिताजी राजदेव चंद्रवंशी इतने खुश हैं कि कुछ बोल भी नहीं पा रहे हैं. भाई और भाभी ने सुनील को होनहार छात्र बताया. साथ ही यह भी कहा कि हम सबको यह उम्मीद जरूर थी एक न एक दिन सुनील को सफलता जरूर मिलेगी. ग्रामीण जयप्रकाश चंद्रवंशी बताते हैं की सुनील की सफलता से नई पीढ़ी को एक संदेश मिलेगा कि सतत प्रयास से सफलता की राह खुल ही जाती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here